Thursday , January 28 2021
Breaking News
Home / अभी-अभी / दिल्ली से बिहार के लिए निकला सलमान, रास्ते में मिली शहनाह फिर प्यार हुआ और निकाह

दिल्ली से बिहार के लिए निकला सलमान, रास्ते में मिली शहनाह फिर प्यार हुआ और निकाह

लॉकडाउन में बहुत सारी मुसीबतें देखी जा रही हैं. लेकिन इन सबके बीच ऐसे भी कहानियां सामने आ रही हैं जो किसी प्राकृतिक ताकत का अहसास कराती हैं. जोड़ियां अगर आसमान से बन कर आती है तो इसको मिलाने के लिए भी कुदरत अजीब खेल खेलता है. ऐसा ही कुछ हजारों किलोमीटर पैदल घर के लिए निकले प्रवासी मजदूरों में एक के साथ हुआ.

बिहार के सीतामढी के रहने वाले सलमान को जिंदगी के मुश्किल सफर में अपनी हमसफर मिल गई. दिल्ली से अपने घर पैदल ही निकलने वाला सलमान और उसका परिवार हरियाणा के पलवल पहुंचा. यहां से सलमान की कहानी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है. यहां से शुरू हुए सफर में मोहब्बत है और फिर शादी भी.

कहां से शुरु हुई सलमान की प्रेम कहानी ?

  • सलमान अपने परिवार के साथ 18 मई को दिल्ली से बिहार के लिए रवाना हुआ. हरियाणा के पलवल और बल्लबगढ़ के बीच थकान होने पर परिवार एक जगह रुक गया. इसी दौरान सलमान के पिता के एक दोस्त मिल गए, जो बिहार ही जा रहे थे. वह भी परिवार के साथ थे, जिसमें 12वीं पास शहनाज भी शामिल थी. दोनों परिवार साथ ही बिहार के लिए निकल पड़े. इसी बीच दोनों परिवारों ने साथ खाना खाया और साथ ही रुकते. सलमान और शहनाज के बीच खाने का अंदाज मिलता-जुलता दिखा.
  • इसके बाद दोनों परिवार आगरा पहुंचे. यहां शहनाज और सलमान के बीच बातचीत शुरू हुई. शहनाज ने सलमान से पूछा कि ये कौन सा शहर है. इस पर सलमान ने जवाब दिया कि यह ताजमहल का शहर है. इसके बाद शहनाज ने कहा कि क्या आप मुझे ताजमहल दिखाएंगे. इस पर सलमान को एहसास हुआ कि दोनों एक जैसा ही सोच रहे हैं.
  • इसी बीच कानपुर पहुंचने पर दोनों परिवार को शहनाज और सलमान को लेकर कुछ-कुछ आभास होने लगा. परिवारों ने दोनों से बातचीत की. इस दौरान काफी बहस हुई. कानपुर के बाद से दोनों के बीच तू-तू, मैं-मैं बढ़ती चली गई.
  • जब परिवार दोनों गोरखपुर पहुंचे तो सलमान और शहनाज के बीच थोड़ी बातचीत हुई. परिवार को शक होने लगा तो दोनों तय किया वह अलग-अलग समय पर निकलेंगे. दोनों के बीच फिर तू-तू, मैं-मैं बढ़ती चली गई. इसी बीच सलमान ने ऐसा करने से मना कर दिया और कहा कि साथ चले से क्या परेशानी है. जब पिता ने मना किया तो सलमान का सब्र का बांध टूट गया और कह दिया कि शहनाज को लेकर ही जाऊंगा.
  • दोनों परिवार के बीच काफी लंबी बातचीत होती रही. दोनों परिवार में काफी गुस्सा था. लेकिन, दोनों की जिद्द के आगे समझाइश के बाद परिवार राजी हो गए और शाम को निकाह हो गया. निकाह गांव में हुआ तो गांववालों ने कुछ कपड़े और पैसे भी दिए और कहा कि ये हमारे गांव की बेटी है.

Check Also

आइडियल कल्चर पब्लिक स्कूल में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर झंडारोहण किया गया

तमकुही राज विधान सभा क्षेत्र के सलेमगढ़ बाजार में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के शुभ ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *