Monday , January 18 2021
Breaking News
Home / अभी-अभी / नौकरी के लिए फॉर्म रिजेक्ट की वजह बना ‘सरनेम’, लोग सुनते तो उड़ाते हैं मजाक

नौकरी के लिए फॉर्म रिजेक्ट की वजह बना ‘सरनेम’, लोग सुनते तो उड़ाते हैं मजाक

अक्सर लोगों की पहचान सरनेम से ज्यादा होती है, जैसे बजाज, गुप्ता, तिवारी, मिश्रा, पटेल, मोदी, गांधी. इससे लोगों को कभी नुकसान नहीं होता है. लेकिन अगर किसी को इसका नुकसान होने लगे तो क्या करें. ऐसा ही एक मामला सामने आया है. एक महिला है जो नौकरी के लिए फॉर्म अप्लाई करती है तो उसका फॉर्म रिजेक्ट हो जाता है. वजह है उसका सरनेम.

लगातार ऐसा होता रहा तो महिला बहुत परेशान हुई. उसने अपना ये दर्द फेसबुक पर भी शेयर किया.उसके सरनेम को लेकर लोग मजाक उड़ाते.

महिला असम के गुवाहाटी की रहने वाली है. नाम प्रियंका है. जानकारी के मुताबिक हाल ही में प्रियंका ने सरकारी कंपनी नेशनल सीड कॉरपोरेशन लिमिटेड के लिए जॉब के लिए अप्लाई किया था, लेकिन उसका फॉर्म रिजेक्ट कर दिया गया और इसके पीछे वजह थी उसका सरनेम उसका सरनेम Chutia है.

बताया जा रहा है कि सरनेम Chutia होने की वजह से ऑनलाइन सॉफ्टवेयर ऐसे शब्दों को रिजेक्ट कर देता है. जिसके कारण प्रियंका इस जॉब के लिए अप्लाई नहीं कर पा रही है. बताया जा रहा है कि ऑनलाइन सॉफ्टवेयर ऐसे शब्दों को रिजेक्ट कर देता है. जिसके कारण प्रियंका इस जॉब के लिए अप्लाई नहीं कर पा रही है.

प्रियंका ने इसके लिए कई बार कोशिश किया, लेकिन हर बार उसे ऐसी ही निराशा उठानी पड़ती है. परेशान होकर प्रियंका ने अपना दर्द फेसबुक पर शेयर किया। प्रियंका ने कहा कि उसके सरनेम की वजह से वह जहां भी इंटरव्यू में जाती है, लोग उनका नाम सुनकर पहले हंसने लगते हैं. प्रियंका ने बताया कि कंपनियां जॉब एप्लीकेशन रिजेक्ट कर देती हैं. प्रियंका ने कहा कि मैं लोगों को बता बता कर थक चुकी हूं कि उनका सरनेम कोई अपशब्द नहीं है. वे जिस समाज में आती है वहां उनका सरनेम यही है.

हालांकि प्रियंका की परेशानी सुनने के बाद जॉब एप्लीकेशन स्वीकार कर लिया गया और उन्हें नौकरी के लिए भी इंटरव्यू देने के लिए बुला लिया गया.

दरअसल, असम में एक आदिवासी जनजाति है. प्रियंका इसी जनजाति से हैं. इसमें लोगों के दो सरनेम होते हैं. पहला Chutia और दूसरा Sutiya। माना जाता है कि ये जनजाति मूलरूप से मंगोलिया के चीन और तिब्‍बती परिवारों के वंशज होते हैं.

ब्यूरो रिपोर्ट

Check Also

आज हथुआ हनुमान मंदिर के परिसर में युवा दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाई गईं

आज हथुआ हनुमान मंदिर के परिसर में स्वामी विवेकानंद जयंती (युवा दिवस) दीप प्रज्ज्वललित कर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *